557/☑️”बदलेगा भारत”-(एक झलक) आगे क्या कैसे ! जानिए 🔱”शिव” मेरे आराध्य से‼️

🛑समय लगेगा; लड़ाई लम्बी हैं पर बदलेगा सबकुछ ! ये कोई भविष्यवाणी नही अपितु एक सत्य! इसी ओर बढ़ रहा हैं भारत ? अहंकारी बली शक्तियां आपस मे टकरा कर निस्तेज होंगी। साजिश, छल, बल, खरीद-फरोख्त, अन्दर-बाहर युद्ध की स्थिति आ सकती हैं। तंत्र बिखरने लगेंगे। राज्य हाथ से निकल जाएंगे। हार का खुद ही ढिंढोरा पीटा जाएगा। किसानों के संघर्ष/तप को खण्डित करने की तमाम साजिशे होंगी किन्तु संघर्ष की विकट स्थिति को ईश्वरीय शक्ति अन्तिम क्षणों मे सम्भाल लेगी। देश एक होगा। पूंजीवाद, नेता-वाद, अपराध-वाद, सहित नौकरशाही के अन्दर बाहर सभी बाहुबली दिग्गज जमीन पर होंगे। मुख्य मीडिया बर्बाद हो जाएगी। महामारी एवं प्राकृतिक आपदा से अभी और भी भारी नुकसान होगा। महामारी के अनेक रूप होंगे।

🔘बदलेगा भारत! शक्ति के क्रोध से तपस्वी जनता, किसान मजदूर, निष्पक्ष और जागृत ही बचेगें। विलासिता की कमर की हड्डी टूट जाएगी। मठ मन्दिर मस्जिद चढ़ावे से मुक्त हो जाएंगे। मजहबी सच्चे आध्यात्म की खोज करेंगे। प्रार्थना सभाओं को बल मिलेगा। लोग जागरूक होंगे। सभी मायने मे लोकतंत्र होगा। कानून सबके लिए बराबर होगा। भय मुक्त होगा भारत।

🔘राष्ट्रपति-प्रधानमन्त्री मे कोई एक बचेगा। दोनों की जरूरत नही! और भी बहुतेरे होंगे फेरबदल। किसान समर्थित सरकार होगी वही सत्ता संभालेगी।

🔘राजनीति से अलग 34 से 40 प्रज्ञावान गुरूनेत्र अनुभवी बुजुर्ग किसान पंच होंगे सबसे ऊपर ! निशुल्क देश-सेवा एवं राष्टनिर्माण होगी इनकी प्राथमिकता।

🔘उन्हीं पंचों की लगेगी संसद/राज्यों द्वारा निर्मित कानूनों पर अंतिम मोहर !

🔘किसान ही चुनेंगे अपना पंच! हर राज्य में होगी सरकार के समानान्तर व्यवस्था। बिना तनख्वाह बिना किसी लालच या सिक्युरिटी के करेंगे देश सेवा। इनकी अपनी संसद और अपनी स्वनिर्मित कार्यशैली होगी।

🔘जनता से सीधे जुड़े होंगे। इनके फैसले होंगे सभी को मान्य। यही पंच नजर रखेंगे सरकार और उसके तंत्र पर और नकेल कसने का काम करेंगे।

🔘संसद एवं संसदीय प्रणाली मे कर सकते हैं हस्तक्षेप। राष्ट्रपति से ज्यादा होगी दृश्य अदृश्य इनकी पावर! भेदभाव रहित, समान कानून शिक्षा चिकित्सा व्यवस्था, जनता के हित होंगे सर्वोपरि।

🔘भ्रस्टाचार रिश्वतखोरी या अन्य गम्भीर शिकायतों पर इनके अधिकार सुरक्षित होंगे। तंत्र मे किसी से पूछ सकते हैं सवाल और कार्यवाही मे विलंब होने पर दे सकते हैं आदेश। डॉक्टर निःस्वार्थ सेवा के लिए आगे आयेंगे। अस्पताल सेवा के नाम से जाने जाएंगे। चोरी खत्म होगी। घर से ताले धीरे-धीरे हट जाएंगे।

🔘बिना लालच के देश कैसे चलाया जा सकता हैं ये किसान और उनके चुने पंचों से अच्छा भला कौन जान सकता हैं। पूरी दुनिया को ये साबित करके दिखाएंगे। और ऐसा ही होगा। देश मे कर्म; निष्ठा, सेवा और इंसानियत ही पूजित होगी। मंत्री सन्तरी सब अपना अपना समान उठाकर चलेंगे। कोई किसी का सामन नहीं ढ़ोंएगा। सर जैसी चीज़ नहीं होगी सभी अपने नाम से जाने जाएंगे। नीचे से ऊपर तक सन्तरी से मंत्री तक सबका अपना सम्मान होगा। सुधार के मौके होंगे। अनेकों अनुसंधान के साथ रोजगार के सभी को मौके होंगे। वेदों के मार्गदर्शन में देश मे अनुसंधान होंगे। सभी सनातन को मानेंगे तू हिन्दू तू मुस्लिम, काला पीला, ये वो सब खत्म हो जाएगा।

🔘पूंजीवाद धूमिल होगी। बैंकों और दूसरे सरकारी तंत्र की धांधली और लूट समाप्त होगी। लालची लोगों का पलायन होगा। चाटुकारिता का काम तमाम। नेता लोग नेतागीरी नहीं सिर्फ काम! जनता के साथ मिल-बैठकर काम करेंगे। अफसर जनता के सही अर्थों मे सेवक होंगे। तानाशाही, बिना पैसे प्रचार के चुनाव। पढ़े लिखे साफ सिर्फ किताबी कीड़े नहीं जागृत ही राजनीति मे होंगे। अपराध मुक्त होगा हर राज्य। अपराधी सुधरेंगे या सत्ता से बाहर दण्ड को भुगतेगें या फिर देश छोड़ देंगे। सेवा शुल्क विहीन और सबके लिए देश मे सुलभ होगा। सेवा मेवा से मुक्त होगा। सेवा शुल्क विहीन और सबके लिए देश मे सुलभ होगा। सेवा मेवा से मुक्त होगा

नए सिरे से अनुसंधान होंगे। सभी धार्मिक गुरू एक मंच पर होंगे और अपनी न्यायसंगत सही मार्गदर्शन लोगों तक पहुंचाएंगे। पाखण्डी मजहबी धर्मज्ञ या तो सुधर जाएंगे या हिमालय तप करने चले जाएंगें। आध्यात्मिक पाखण्ड तंत्र मंत्र ना होकर कर्म पर बल होगा। अपने धर्मों मे रहते हुए आपस मे भाईचारा होगा लोग एक दूसरे की मदद सेवा समझ करेंगे। सरकारी या निजी कार्य पूरी प्लानिंग और रूपरेखा के बाद ही तेजी से शुरू किया जा सकेगा। चोरों और अपराधों का मुह काला होगा और भी बहुत से बदलाव होंगे। इस तरह बदल जायेगा भारत और बदल जाएगी पूरी दुनियां। भारत विश्व गुरू विश्व बंधुत्व के साथ आगे बढ़ेगा !!

!! धन्यवाद !!

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s